तुला राशीफल 2020 हिंदी | तुला राशि वार्षिक राशिफल

0
71

तुला राशि भविष्यफल | Tula Rashifal 2020 Hindi

तुला राशीफल 2020 धन, संपति और व्यापार.

इस वर्ष २०२० में तुला राशि के जातको के लिए व्यापार और धन संपत्ति के बारे में देखते हुए, यह वर्ष मिलाजुला रहेगा.

वर्ष दरमियान खर्च बढ़ने के आसार ज्यादा दिखाई देते हैं, व्यापार में ज्यादा धन मिलेगा, परंतु खर्च के हिसाब से सब सम  हो जाएगा,

विशेषकर इस वर्ष रुका हुआ धन मिलेगा,  यानी जो आपके व्यापार में पहले से उधार पैसे थे वाह उधारी आपकी वापस आ जाएगी ऐसे ग्रह संकेत दिखाई देते है. 

पैतृक संबंधित जो संपत्ति है, इस संपत्ति को अगर आप बेचते हो तो अच्छा फायदा रहेगा.

प्रॉपर्टी संबंधित लेनदेन में आपको अच्छे लाभ प्राप्त करोगे, यह देखा जाता है की  धन-संपत्ति व्यापार को चलते हुए, सुख सुविधाओं में बढ़ोतरी होंगी. साथ में सुख सुविधा में खर्च भी रहेगा,

नए वाहन खरीदने के योग बनेंगे,ऐसा ग्रह संकेत है. 

यात्रा के बारे में भी आपका पैसा खर्च होगा,

24 जनवरी 2020 से शनि राशि परिवर्तन कर रहा है ,शनि आपके लिए वैसे मध्यम फल दे रहा है, इसीलिए आपको शनि के उपाय करना जरुरी है. 

30 मार्च को गुरु का प्रवेश मकर राशि में है, तो आपके लिए यह समय अच्छा रहेगा, मई मास में गुरु का वक्री होना, आपके व्यापार सबंधित कार्यों में बढ़ोतरी करेगा और ऐसा संकेत है की साथ में खर्च भी दिखाई दे

रहे हैं.

तुला राशीफल 2020 प्रेम और वैवाहिक जीवन

वर्ष  2020 में प्रेम और वैवाहिक जीवन में देखा जाए तो प्रेम संबंधित सुख प्राप्त होगा. लंबे समय से किसी खास व्यक्ति की मुलाकात नहीं हुई है, तो इस वर्ष के दौरान एक खास मुलाकात इनके नाम पर होगी. मुलाकात के दौरान कुछ पुरानी यादें अचानक से याद आयेगी, वर्ष के दौरान आपका पुराना प्यार लौट कर वापस आ सकता है, रोमांटिक लाइफ की बातें करें तो तुला राशि के जातकों के लिए वर्ष 2020 में शुभ संकेत दिखाई दे रहे हैं.

आपकी राशि का स्वामी ग्रह शुक्र है,

सुख का प्रतिक दर्शाता है, इस वर्ष के दौरान प्रेम में सफलता प्राप्त होगी.

परंतु थोड़ी छोटी-मोटी बातें है वह आपको अवश्य ध्यान रखनी पड़ेगी, यह बात ध्यान नहीं रखते हो तो, आपको प्रेम में सफलता नहीं मिल पाएगी,

पहले तो आपको अपने क्रोध पर काबू रखना है, दूसरी बात जो पात्र आपके सामने है, उसकी बात भी आपको सुननी है,

और साथ में परिवार वालों की भी बात सुननी है,

फिर भी क्या करना है, वह आपके पर निर्भर है.

मगर पूर्णता प्राप्ति के लिए यह न करने  से आपको अच्छा रहेगा.

आपका वैवाहिक जीवन देखा जाए तो वर्ष 2020 में दांपत्य जीवन आपका अच्छा रहेगा. पति-पत्नी के संबंध मधुर रहेंगे, परंतु एक बात जरूर है कि, परिवार की कोई व्यक्ति के कारण पति-पत्नी दोनों में लड़ाई झगड़ा हो सकता है. ऐसे योग बन रहे हैं,

लाइफ पार्टनर के साथ कुछ यादगार यात्रा का योग बनेगा, विवाहित जातकों के लिए संतान के योग बनेंगे, अविवाहित जातकों के लिए विवाह का योग बनेगा.

14 जून 2020 के बाद वैवाहिक जीवन में चिंता और तनाव महसूस करोगे,

विवाह लग्न सबंध के बारे में देखा जाए तो, आपके साथ विश्वासघात और धोखा हो सकता है.

दहेज के प्रश्नों को लेकर कोर्ट-कचहरी तक का मामला भी हो सकता है.

वर्ष 2020 में स्वास्थ्य के बारे में देखा जाए तो आरोग्य सुखाकारी में इस वर्ष के दौरान प्रधान्यता आपको देनी पड़ेगी.

24 जनवरी 2020 से लेकर 15 फरवरी 2020 के दौरान आपको ग्रह गोचर के हिसाब से देखा जाये तो सीने में दर्द, सर्दी, खासी, सांस की तकलीफ, ह्रदय रोग की तकलीफ, वायरल इनफेक्शन, ब्लड प्रेशर, मधुमेह विगेरे रोग से सावधानी रखनी पड़ेगी. साथ में आपको इस बीमारी के चलते हुए मानसिक तनाव रहेगा, तारीख 14 मई 2020 से 15 जून 2020 के अंतर्गत शरीर पर चोट, फ्रेक्चर, मोच आने की संभावना है,

इसके चलते हुए शस्त्रक्रिया के योग भी बनेंगे, कमर में दर्द पीड़ा हो सकती है.

वडीलवर्ग को प्रोस्टेट की तकलीफ यूरिन से जुड़ी तकलीफ हो सकती है.

15 सितंबर से लेकर 15 नवंबर तक आंख में दर्द पीड़ा हो सकती है,

छोटे बच्चों को मोबाइल टीवी का ज्यादा उपयोग करने से आंखो में इंफेक्शन हो सकता है, बच्चो को रमत-गमत के चलते हुए सावधानी रखनी है क्युकी इसके द्वारा आंख से पीड़ा हो सकती है.

जब आप टहलने जाए तब शांति से चलना जरूरी है.

क्यूकी अकस्मात होने की संभावना है.

वर्ष 2020 के अनुसार देखा जाए तो पहले तो हमने जो बताया इसके चलते हुए स्वास्थ्य कुछ कमजोर रहने के आसार है.

वर्ष की शुरुआत स्वास्थ्य अच्छा रहेगा.

ग्रहों की स्थिति आपको विभिन्न प्रकार के रोगों से  लड़ने की ताकत इस वर्ष २०२० में देगी,

अगर आपको वायु रोग है तो इस रोग में दवा करने में लापरवाही ना करें,

जो खानपान की चीजें वायु करती है, वह आप परहेज करें,

चिकित्सीय सलाह लेकर औषध का सेवन करें,

नियमित योगाभ्यास करें, सुबह में ॐ मंत्र का जाप करें, आपको काफी शांति मिलेगी. और शरीर में एक नई चेतना प्राप्त होगी.

तुला राशीफल 2020 शिक्षा, नौकरी और यात्रा

शिक्षा, नौकरी, यात्रा और आर्थिक लाभ वर्ष 2020 के अनुसार देखा जाए तो विद्यार्थी वर्ग के लिए अपनी कारकिर्दी को आगे बढ़ाने के लिए वर्ष के आरंभ का समय प्रतिकूल देखा जाता है.

इसीलिए आपको अभ्यास में एकाग्रता रखकर सख्त मेहनत करनी पड़ेगी.

आलस को छोड़कर आप अभ्यास में आगे बढ़ोगे तो, सफलता आपके नजदीक आ जाएगी, 

यानी अभ्यास में आपका जो गोल है वो आप पूरा कर सकते हो.

मित्र वर्ग से सावधान रहने की जरूरत है, टीवी और मोबाइल का उपयोग कम करें, व्यसन से बचें अभ्यास में लापरवाही करोगे तो परिणाम नहीं पा सकते हो,

परीक्षा के दौरान आरोग्य के बाबत में सावधानी रखनी जरूरी है,

इसमें ज्यादातर मेडिकल, इंजीनियरिंग, आईटी, सीए के स्टूडेंट को ध्यान रखना है. 30 जून से लेकर 29 नवंबर तक शिक्षा के लिए अच्छा देखा जाता है,विद्या अभ्यास के लिए विदेश के भी योग बनेंगे.

आपकी जन्मकुंडली में प्रबल ग्रह संकेत है, तो आप अभ्यास के लिए अवश्य विदेश जाओगे.

शिक्षा के संदर्भ में एंट्रेंस एग्जाम, जॉब के लिए इंटरव्यू विगेरे में सफलता प्राप्त हो सकती है.

नौकरी में देखा जाए तो 29 अक्टूबर से 20 जनवरी 2020 तक नौकरी  मैं सानूकुलता रहेगी, प्रमोशन अथवा ट्रांसफर होगी.

नौकरी में आपको मान-सम्मान मिलेगा, संबंधों में बढ़ोतरी होगी, व्यवहार आपका अच्छा हो ने से सभी लोग आपको पसंद करेंगे.

जैसे-जैसे वर्ष पसार होगा, वैसे- वैसे आपकी कामगिरी में बढ़ोतरी होगी. इसके साथ चलते हुए जवाबदारी भी आपकी बढ़ेगी, नौकरी में आपको एकाग्रता रखनी पड़ेगी,

इसके साथ आरोग्य में भी आपको सतर्कता रखनी पड़ेगी, समयसर दवाओं का सेवन और चिकित्सक की परामर्श लेना जरुरी है.  बीमारी के चलते हुए आपको नौकरी में छुट्टी भी लेनी पड़ पड़ती है,

24 जनवरी 2020 के बाद शनि की पनौती ढाई वर्ष के लिए लोह पाया पर है, तो नौकरी के लिए आपकी गणतरी में, आपकी धारणा में, आपकी अपेक्षा में और आपकी प्रगति में रुकावट आ सकती है.

नौकरी में मेहनत आप करो, और फल दूसरों को मिले, ऐसा भी योग, इस वर्ष के दौरान बन रहा है.

ग्रह गोचर के हिसाब से एक बात तो अवश्य में कहना चाहता हूं कि, आप नौकरी कर रहे हो तो, आपको नौकरी छोड़कर बिजनेस के लिए नहीं सोचना चाहिए.

अगर आप नौकरी छोड़कर बिजनेस करोगे तो इस कार्य क्षेत्र में आपके लिए मुश्किल खड़ी होगी.

आपकी नौकरी सलामत तो, आपका परिवार सलामत. यह बात आपको याद रखना जरूरी है.

आपको ऐसा भी होगा कि, अधिकारियों से, स्टाफ से, परेशान होकर आप नौकरी छोड़ देने का निर्णय करोगे.

परंतु आपके स्व निर्णय से यह नौकरी न छोड़े,

नौकरी में आपकी कामगिरी और जवाबदारी दोनों कार्य नियमित रूप से समयसर  करते रहे, पहले तो आप ऑफिस पहुंचने का और निकलने का दोनों समय नियमित कर दे.  वर्ष 2020 नौकरी में चुनौती रहेगी, और इस चुनौती का स्वीकार करना होगा.

पूजा मंत्र इष्ट देव आराधन आपकी हिम्मत में बढ़ोतरी करेगा.

जो जातक वर्ग नौकरी को ढूंढ रहे हैं, उनको नौकरी मिलेगी, परंतु कम तनखा लेकर ज्यादा तनख्वाह पर साइन करनी पड़ेगी. नौकरी में आपके ऊपर चोरी का इल्जाम लग सकता है,

फिर भी आपको वाणी में मिठास, व्यवहार में नम्रता रखकर यह वर्ष पूरी मेहनत के साथ पूर्ण करना है.

यात्रा के लिए योग अच्छे बनेंगे. परंतु इस वर्ष के दौरान व्यापार के संबंध में यात्रा करोगे तो, इसमें आपको लाभ नहीं मिलेंगे यह संकेत दिखाई देता है.

आर्थिक लाभ वर्ष के आरंभ में नालाकीय किया आयोजन में पहले तो आपको कर कसर करनी पड़ेगी. आप करकसर करोगे तो जो बचे हुए पैसे है वो आपको ही काम लगेंगे.

जैसे-जैसे वर्ष पसार होगा, वैसे-वैसे पैसो को चिंता से लेकर मानसिक तनाव बढेगा.

परंतु 24 जनवरी 2020 तक आवक में प्रबलता होने से आर्थिक सुख सानूकुल देखा जाएगा. आपको छोटी पनौती लोह के पाया पर 24 जनवरी 2020  शुरू होने से आर्थिक संपत्ति में वृद्धि होगी परंतु थोड़ी समस्या रहेगी. आकस्मिक खर्च आने से आपको पैसे उधार भी लेना पड़ेगा, ऐसा एक योग बनता है.

क्यूकी व्यापार में आपकी उधार रकम है वो वापस आने के आसार कम है. इनके लिए आपको रुण मोचक मंगल स्तोत्र का पाठ अवश्य कराये साथ में शनिदेव का मंत्र जाप  अवश्य कराये. यह सब विधिविधान आपकी श्रद्धा पर निर्भर करता है.  

उपाय वर्ष 2020 में आपको क्या उपाय करना है? इसके बारे में हम आपको बता रहे हैं. दुष प्रभावो से बचने के लिए सरल और साध्य उपाय करना चाहिए.

मंत्र जाप, अनुष्ठान विगेरे करने से आपके जीवन में सकारात्मकता का एक नया संचार निश्चित रूप से देखा जाता है. 

दूसरा उपाय अगर आप इस वर्ष के दौरान सप्त मुखी रुद्राक्ष धारण करे. सप्तमुखी रुद्राक्ष धारण करने से वर्ष २०२० दरमियान आनेवाले सभी संकट और संघर्ष इन सभी में  आपको राहत महेसुस हो सकती है.  

सप्तमुखी रुद्राक्ष धन प्राप्ति के लिए उतम है. सप्तमुखी रुद्राक्ष से दरिद्रता दूर रहती है. मान-सम्मान प्रतिष्ठा में वृद्धि होती है.  लक्ष्मी गणेशजी की कृपा प्राप्त होती है.  सप्तमुखी रुद्राक्ष शरीर की सप्त धातुओं की रक्षा करता है.

स्वास्थ्य में हृदय रोग, गले का रोग इसके अतिरिक्त गुप्त रोग सभी में राहत मिलती है. 

यह रुद्राक्ष अनंग रूप से जाना जाता है और  शनि द्वारा संचालित होता है. इसलिए यह रुद्राक्ष को धारण करने से कई तरह की समस्या का अंत आ जायेगा.

नवग्रह का यंत्र भी आप आपके घर में रख सकते हो इससे ग्रह सबंधी पीड़ा और वास्तु दोष दूर होता है.

शनिदेव के लिए उपाय

मंत्र : ॐ खां खीं खों सः शनैश्चराय नमः इस मंत्र की माला नित्य करे अथवा ब्राह्मण से करवाएं.

शनिवार के दिन कुछ द्रव्य का दान करें. जैसे तेल, तिल, काले उड़द यह सभी का दान करें. दशरथ कृत शनि स्तोत्र का पाठ करें. यह आपके लिए शुभ है. 

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें