मिथुन राशीफल 2020 हिंदी | मिथुन राशि वार्षिक राशिफल

जानिए हिंदी में अपना वार्षिक राशिफल वृषभ राशी

0
21

मिथुन राशि भविष्यफल | Mithun Rashifal 2020 Hindi

मिथुन राशिफल २०२०-धन-संपत्ति और व्यापार
Mithun Rashi Fal २०२०- Wealth and trade

मिथुन राशि के लिए इस वर्ष २०२० में व्यापार में सावधान रहकर व्यापार करने की आवश्यकता हैं.

वर्ष २०२०जनवरी, फरवरी और मार्च में व्यापार मध्यम रहने के आसार है.

अगर आप व्यापार में भागीदारी से जुडे है तो वर्ष २०२० में काम मुनाफा मिलने के आसार है. भागीदारी में परस्पर इस कम मुनाफे के चलते हुए आमने-सामने एक दुसरे के उपर आरोप लगायेंगे. ऐसा होने के आसार है.      

भूमि सबंधित कार्य लेना और बेचना, फ्लेट विगेरे बनाना और बेचना, सोसायटी बनाना और माकन बेचना इसके संदर्भ में आप काम करते हो तो और गवर्नमेंट का कंस्ट्रक्शन कॉन्ट्रैक्ट आपके पास है तो यानी आपको कोंट्राक्ट मिला है तो, अच्छा मुनाफा मिलने के आसार है,  

इलेक्ट्रिक साधनों का उत्पादन करना, विक्रय करना, रेस्टोरेंट विगेरे व्यापार में पूर्णतः इस वर्ष अच्छा फायदा होगा.

उपर दिए गए लाभ प्राप्त करने के लिए यह राहुदेव की पूजा-मंत्रजाप विधिविधान अवश्य कराए.

राहुदेव का मंत्रजप, लघुरूद्र, शिवपूजा विगेरे धार्मिक कार्य करने से इस वर्ष २०२० में आपको अशुभ ग्रहों के फल से राहत मिलेगी. और इस विधीविधान करने से हर कार्य अच्छा होगा.

धार्मिक कर्मकांड के द्वारा ग्रहों का विधिविधान –

यह विधिविधान श्रद्धा पूर्वक करने से वर्ष २०२०में अशुभफल का शुभफल में परिवर्तन होगा.

धन सम्बंधित देखा जाए तो आवक में कोई फर्क नहीं पड़ेगा. परंतु खर्च इस वर्ष २०२०में ज़्यादा होगा ऐसा योग बन रहा है.  मार्च, अप्रैल, मे, जून इसी महीनो में उधार पैसा लेना पड़ेगा.

स्थावर संपत्ति के बारे में देखा जाए तो नई प्रॉपर्टी खरीदने का योग बनता है. इसी से चलते हुए उधार पैसा या लोन लेनी पड़ेगी.

यह इस वर्ष के दौरान ली हुई स्थावर संपति आनेवाले वर्षो में अच्छा लाभ देकर जाएगी.   

मिथुन राशिफल २०२०-प्रेम और वैवाहिक जीवन
Mithun Rashi Fal २०२०- Love and married life

मिथुन राशि २०२० में वैवाहिक जीवन में पूर्णतः बाधा उत्पन होने के आसार दिखाई देते है. इसीलिए दांपत्य जीवन में वर्ष २०२०के दौरान दोनों पात्रों को समझकर घर में रहना होगा दोनों पात्र एक दुसरे को समझकर चलेंगे तो दांपत्यजीवन इस वर्ष २०२० में खुशहाली पूर्वक पूर्ण होगा.

गोचर ग्रह योग से देखा जाए तो वर्ष २०२०आपके लिए सम रहेगा. यानी बहुत अच्छा भी नहीं और बहुत ख़राब भी नहीं.

पति-पत्नी दूसरे लोगो की बात सुनकर आपस में झगड़ा ना करें. पहले सोचे समझे फिर आगे जो करना है वो करे.

परिवार के सभी सदस्यों के साथ वाणी पर संयम रखकर बात करे. क्युकी ससुराल में विवाद हो सकता है.

इसीके चलते हुए किसी से भी आप बात चित करे तो शांतिपूर्ण करे, यह ध्यान रखना आपको जरुरी है.

पति-पत्नी को आपस में ग़लत फेमी हो सकती है. सोच-समझकर निर्णय करे तो गलत फेमी से बच सकते हो. 

क्युकी राहु का प्रभाव इस वर्ष आपको एसे छोटे-मोटे मनमुटाव उत्पन कर सकता है.

उपाय के लिए राहुदेव का शांति यजन पंडित के साथ करवाए. 

शुक्र प्रेम का कारक ग्रह है, पंचम स्थान प्रेम-विद्या का है.

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार कुंडली का पांचवा स्थान पूर्व जन्म का भी है.  

मिथुन राशि – प्रेम सबंध

इस वर्ष २०२० के अंतरगत, प्रेम सबंध में आगे नहीं बढ़ना चाहिए. क्योंकि राहुदेव की कृपा आपके उपर बुरा प्रभाव डाल रही है.

इस वर्ष के दौरान प्रेम सोच समझकर करना चाहिए. प्रेम सम्बंध में सफल नहीं होंगे.

वर्ष के बीच में प्रेम सबंध टूटने के आसार दिखाई पड रहे है. इसीलिए आप सोच समझकर प्रेम सबंध के मामले में काम ले.  पति-पत्नी के बीच में परस्पर कोई भी बातचित हो तो खुले दिल से करे,

एकदूसरे के उपर आप शकीला(शंकी) स्वभाव न रखे.

प्रेम-सम्बंध को जोड़कर रखना है तो, उपर बताई गई हुई बात  खास ध्यान में रखने की ज़रूरत है.

मिथुन राशिफल २०२०-स्वास्थ्य
Mithun Rashi Fal 2020–Health

साल २०२० में मिथुन राशि को स्वास्थ्य के बारे में सावधान रहने की ज़रूरत है.

राहु का प्रभाव होने से सावधान रहना जरुरी है.

और शनि की ढैया लोह का पाया पर चल रही है. जो सेहत के सबंधी परेशान करेगी.

स्वास्थ्य के बारे में मिथुन राशि के लिए छोटा-मोटा प्रॉब्लम आए तो डॉक्टर से चेकअप करवाए.

पुरानी बिमारी से आप जुज रहे हो तो इस वर्ष के दौरान २०२० में आपकीपुरानी बीमारी के अंतर्गत सावधानी रखे. क्युकी इस वर्ष ऐसा देखा जाता है की इस बीमारी के चलते हुए आपको होस्पिटलाइझ होना पड़े और होस्पिटलाइझ हो तो दो चीज की ज्यादा जरुरत होती है. पहली दर्द सहन करने की शक्ति दूसरी सबा लोग बोलते है वही की पैसा बोलता है, पैसे की जरुरत पड़ती है ये दो चीज हो तो काम परिपूर्ण हो जाता है. ऐसा आपको नही समजना है. साथ में आपके ग्रह बलवान होना भी जरुरी है. तो आप बताये गए उपाय को अवश्य करे इसीसे आपको राहत मिलेगी.           साथ में दवा का खर्च रहेगा.

इसीलिए अगर आपकी मेडिक्लेम पॉलिसी नहीं है तो इस वर्ष खास ध्यान रख के आप ले ले वही आपके लिए अच्छा है.  

जिनको पुरानी बीमारी नहीं है उन मिथुन राशि वालो के लिए पेट की परेशानी, नींद नहीं आना, त्वचा के रोग, शरीर में आलस, थकान महसूस करना ऐसी छोटी-छोटी समस्या इस वर्ष दौरान  आती रहेगी.

अगर आपका पुराना दर्द हड्डी के सम्बंधित है तो इस वर्ष के दौरान नॉर्मल हो जाने के आसार दिखाई पड़ते है.

इस वर्ष के दौरान आरोग्य सुखाकारी में पूर्णता के लिए राहू मंत्र जाप, लघुरुद्रयज्ञ, शिवभक्ति करने से अथवा ब्राह्मण के पास करवाने से बेहतर परिणाम मिलेगा.

मिथुन राशिफल २०२०-शिक्षा, नौकरी, यात्रा और आर्थिक लाभ
Mithun Rashi Fal २०२०-Education, Job, Travel , Economic benefit

इस वर्ष २०२० के दौरान मिथुन राशि के लिए देखा जाए तो एज्युकेशन के बारे में विद्यार्थी वर्ग अपनी इस वर्ष के दौरान प्राथमिकता रखेंगे.

आपको अभ्यास में रूचि और महेनत के चलते हुए अच्छे परिणाम प्राप्त होंगे.

सितंबर के बाद शिक्षा में बेहतर परिणाम मिलने की उम्मीद है. समय-समय पर अभ्यास के साथ हल्का-फुल्का व्यायाम करें.

इस युग में पढ़ना बहुत ज़रूरी है.

ग्रहों की जो भी असर हो वह इनका काम करती है.

मैं इतना कहेता हूँ कि अपने तन, मन और लगन से आप अपना विद्या अभ्यास करें,

अभ्यास के बिना साध्य की प्राप्ति हो, यह संभव नहीं है.

संत तुकाराम ने यह कहा है अभ्यास की शक्ति बढ़ाने के लिए निरंतर अभ्यास करना है.

किसी विषय का अज्ञात व्यक्ति अभ्यास करने से उस विषय का ज्ञाता हो तो जाता है.

पर्वत भी धीरे-धीरे घिसकर चुर्ण बन जाता है.

बाण भी अपने लक्ष्य तक पहुंच जाता है तो यह सब यह सूचित करते हैं कि लक्ष्य को प्राप्त करना है तो, आप अभ्यास अवश्य करें. अभ्यास एक ऐसी कला है जो सभी चीजों को आसान बना देती है. यह भी सोचने की एक बात है.

आप पढ़े लिखे नहीं हो तो कोई भी कार्य करने के लिए और कहीं भी जाने के लिए झीझकते हो,

हर दो मिनट की शोहरत देखने के पीछे ८ घंटे की कडी मेहनत होती है, वही अभ्यास है.

वर्ष २०२० में मानसिकतनाव, चिंता, परेशानी रहेगी इससे मुक्ति पाने के लिए यह उपाय करे.  

सुबह में उठकर ‘ॐ’ कार का ब्रह्मनाद करें.

धीरे-धीरे सुबह के समय में नासिका से श्वास लेना है,

‘ॐ’ मंत्र का जाप करे.(३६० सेकण्ड)

मिथुन राशि नौकरी और कैरियर

नौकरी में इस वर्ष २०२०में मिथुन राशि के जातको के लिए  चुनौती है, इस चुनौती का आपको सामना करना पड़ेगा और संघर्ष से जूझना पड़ेगा.इसके बाद ही आपको सफलता प्राप्त होगी.

आपको अपना गोल नक्की करके सकारात्मक सोच रखकर जीवन में आगे बढ़ना है.

इस साल २०२० में विद्यार्थीयों के लिए विदेश में अभ्यास करने के योग बनेंगे,   

व्यापार-नौकरी में परदेश जाने के योग बन सकते हैं.

यात्रा करते समय सर-सामान, पासपोर्ट, टिकट इसमें सावधानी बरतें.

भ चक्र की राशि तीसरी है. आर्थिक बाबत से देखा जाए तो यह वर्ष २०२०नई सुनहरी तक लेकर आएगा.

साथ में चुनौतियों का सामना करना पड़ेगा. चुनौतियों के चलते हुए भी आपकी आर्थिक स्थिति मजबूत रहेगी.

उपाय

राहु ग्रह आपकी जन्म कुंडली में कमजोर है और ६, ८ और १२ भाव में से राहु गोचर में परिभ्रमण कर रहा हो तो आपकी जन्म कुंडली को राहु देव,चंद्र को ज़्यादा कमजोर करता है.

इसीलिए आपको चंद्र को मजबूत रखना बहुत ज़रूरी है.

चंद्र मन का कारक ग्रह है.

आप में अच्छी खूबी होने के बावजूद भी आप कोई-कोई बार अच्छा काम नहीं कर पाते हो.

कमजोर चंद्र कफ की वृद्धि करता है, डिप्रेशन और नींद नही आना  यह कमजोर चंद्र के लक्षण है,

स्त्री जातकों को स्तन के सम्बंधित परेशानी होगी ऐसा इस वर्ष २०२० में दिखाई देता है.

मिथुन राशि २०२०-मिथुन राशि के लिए अशुभ ग्रह के उपाय
Mithun Rashi Fal २०२०-Remedy

चंद्र ग्रह का उपाय

चंद्र मंत्र : ‘ॐ चंद्राय नमः’  २८ बार या १०८ बार करें.(१ माला)

सोमवार के दिन दूध चीनी चावल का दान करें.

राहु ग्रह के अशुभ निवारण के लिए यह उपाय करना ज़रूरी है.

चंद्र निर्बल हो गया है तो इसके ऊपर राहु हावी हो जाएगा.

वैदिक ज्योतिष शास्त्र के अनुसार राहु का भी विधान पंडितजी से करवाना ज़्यादा उचित है.

परेशानियों से बचने के लिए शनिदेव का उपाय

शनि देव को प्रसन्न रखना चाहिए शनिदेव की कृपा से जीवन में आनेवाली और वर्ष के दौरान आनेवाली परेशानियों से राहत मिलेगी और जीवन सरलता से चलेगा.

शनि देव का दान मंत्र जप

नित्य तीन माला या एक माला ज़रूर करनी है.

मंत्र ॐ प्रां प्रीं प्रौं शनैश्चराय नमः’

तेल, लोहा, काली मिर्च, मशुर की दाल, काले तिल का दान करे.  हनुमानजी के मंदिर में सिंदूर, तेल और नारियेल चढ़ाये.

शनिवार के दिन श्रवण नक्षत्र जब पड़ता हो तब शमी की जड़ लाकर अपने पर्स में या काले धागे में बाधकर गले में धारण करे. गुरु मंत्र का जाप

मंत्र : ‘ह्रीं गुरवे नमः’

लड़के की शादी नहीं हो रही है तो करे इस मंत्र उपाय.

जाप रोज एक माला करे. (रुद्राक्ष की माला से जप करे  )

ह्रीं पत्नीं मनोरमां देहि मनो वृत्त्तानु सारिणी

तारिणी दुर्गसंसारसागरस्य कुलोद्भवाम ह्रीं

विद्यार्थी अपनी तेजस्विता प्राप्त करने का-

मंत्र : ‘ॐ ऐं नमः’  का जाप एक माला,तीन माला या दश माला करनी है.

 

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें