वृषभ राशीफल 2020 हिंदी | वृषभ राशि वार्षिक राशिफल

जानिए हिंदी में अपना वार्षिक राशिफल वृषभ राशी

0
51
वृषभ राशीफल 2020 हिंदी वृषभ राशि वार्षिक राशिफल

वृषभ राशि भविष्यफल | Vrushabh Rashifal 2020 Hindi

वृषभ राशीफल 2020 धन, संपति और व्यापार.

वर्ष २०२० व्यापार के लिए अच्छा रहेगा. व्यापार में अच्छी आमदनी रहेगी और अच्छी वृद्धि होगी. इस वर्ष के दौरान अपनी बल बुद्धि के उपर बिना भाग दोड किये अगले साल में जो आमदानी हुई थी इससे ज्यादा इस वर्ष आमदानी रहेंगी,

जो जातक दलाली का काम करता हैं उनके लिए वर्ष २०२० में अच्छी दलाली की रकम मिलेगी.

कोर्पोरेट क्षेत्र में इस वर्ष अच्छे लाभ मिलेंगे और फ़िल्म इंडस्ट्रीज में आप काम करते हो तो इस वर्ष सुवर्ण तक प्राप्त होगी.

शेयर बाज़ार और मुच्यल फंड में इस वर्ष २०२० में आप  इन्वेस्टमेंट करोंगे जो आपको आनेवाले वर्षो में ज्यादा मुनाफा देंगे. वर्ष २०२० में पुराना कर्ज और लोन से मुक्ति हो पाएगी ऐसा गोचर ग्रह का संकेत दिखाई दे रहा हैं. कर्ज-लोन ख़त्म हो जाने से आप राहत महसूस करोगे और इस राहत के चलते हुए इस वर्ष व्यापार में नई राह दिखाई देंगी.

वर्ष २०२० जनवरी से मार्च तक कार्य क्षेत्र में अच्छी स्थिति बनी रहेगी साथ-साथ अप्रैल में अधिक खर्च रहेगा और मई से लेकर जुलाई तक व्यापार तेज बनेंगा.

अक्तूबर से लेकर दिसंबर तक व्यापार और कार्य सबंधी कामकाज में ध्यान रखकर काम करना बहुत जरुरी हैं. क्युकी ये अंतिम माह में व्यापार क्षेत्र में थोडा इधर-उधर हो सकता हैं.

साजेदारी में व्यापार कर रहे हो तो कुछ समस्या वर्ष २०२०में हो सकती हैं. साजेदारी में मन मुटाव होगा तो मन मुटाव न हो इसका खास ध्यान रखना इस वर्ष जरुरी हैं.

वर्ष २०२० में कुल मिलाकर देखा जाए तो संपति और व्यापार के लिए अच्छा समय रहेगा वर्ष के अंत में परिणाम अच्छा मिलेगा.       

वृषभ राशीफल 2020 प्रेम और वैवाहिक जीवन

वर्ष २०२० के प्रारंभ में मंगल सप्तम भाव में गोचर करेगा. सप्तम भाव दांपत्य जीवन एवं साजेदारी का भाव कहा जाता हैं. वर्ष २०२० में शुरुआत के ३ माह पति-पत्नी के बीच अणबनाव बन सकता हैं. इसीके कारण पति-पत्नी दोनों को वाणी के उपर संयम रखना जरुरी हैं.

संयम रखने से वैवाहिक जीवन में कोई बाधा नहीं आयेगी.

जान्युआरी से लेकर मार्च इन तीन माह के बाद यानी अप्रैल से लेकर दिसंबर तक दाम्पत्य जीवन में परिपूर्णता देखी जाएगी. पति-पत्नी के बीच का सबंध मधुर रहेंगा. मधुर सबंधो के साथ संसार रूपी सागर में से आपकी नैया पार हो जाएगी.

वर्ष २०२० में प्रेम सबंधो के बारे में देखा जाये तो वृषभराशि को मिले-जुले परिणाम मिलेंगे. जनवरी से लेकर अप्रैल तक प्रेम-सबंध में अवरोध रहेगा.

इस प्रेम-सबंध के चलते हुए अभ्यास में अवरोध आयेगा और छोटी- मोटी बाधा उत्पन होगी. प्रेम विवाह के मामले में कोर्ट-कचहरी का योग बनेगा. कोई भी कार्य करने का मुड नही रहेगा. इसीलिए निचे   उपाय बताया गया है.  

भगवती बगलामुखी का अनुष्ठान पंडित के साथ करवाए तो पूर्ण  फल की प्राप्ति होगी. समस्या का हल निकलेगा. भगवती बगलाअम्बा आपकी शुभ मनोकामना पूर्ण करे. 

मंत्र : ॐ ह्लीं बगलामुखी सर्व दुष्टानाम वाचं मुखं पदम् स्तम्भय जिह्वाम कीलयकीलय शत्रु बुद्धि विनाशाय ह्लीं ॐ फ़ट्  स्वाहा

(अगर आप यह मंत्र स्वयं करना चाहते हो तो गुरु के पास से दीक्षा लेकर करना उचित है वैसे आप स्वयं यह मंत्र का जप नहीं कर सकते गुरु का सानिध्य फल दायक होता है )           

आगे जुलाई के बाद लव रिलेशन(प्रेम-सबंध) में कुछ अच्छा होगा.

इस वर्ष २०२० में शादी करना चाहते हो तो रिश्तेदारो के प्रयत्न  द्वारा शादी हो सकती हैं.(अगर आपकी शादी में युवक को दिक्कत आ रही है तो निचे उपाय में बताये हुए मंत्र का जाप १०० माला करे यह आप अनुष्ठान दश दिन में पूरा कर सकते हो एक दिन में दश माला दश दिन में १०० माला आपकी पूरी हो जाएगी )

वृषभ राशीफल 2020 स्वास्थ्य और यात्रा

स्वास्थ्य के बारे में आपको ध्यान रखने की जरुरत वर्ष २०२० में हैं.

“धन तो फिर भी मिल जाएगा लेकिन स्वस्थ शरीर फिर से नहीं मिल पाएगा.”

“जब स्वच्छ और स्वस्थ होगा शरीर तब रहेंगे भरपूर अमीर.”

“स्वास्थ्य के प्रति लापरवाही जीवनभर शरीर को सजा.”

स्वास्थ्य के लिए वर्ष २०२० में कैसा रहेगा यह आप जानिए. दि. २४/०१/२०२० तक शनि की छोटी पनोती (ढैया) लोहा के पाया  उपर रहेगी.

२४ जनवरी २०२० से पनोती नहीं है.

फिर भी आपको शारीरिक, मानसिक अस्वस्थता देखी जाएगी सतत-चिंता-थाक-अनिंद्रा का अनुभव होगा. दि.१६/१२/२०१९ से  १४/०१/२०२० दौरान सीजनल बीमारी होगी शर्दी, खासी, ताव की असर देखी जाएगी.

दि.०७/०२/२०२० से २२/०३/२०२० तक रक्तचाप, त्वचा, पाइल्स, कमर और पैर शरीर में इसके सबंधित तकलीफ हो सकती है. इसके चलते हुए रोजिंदा जीवन में दिक्कत रहेगी.

वर्ष २०२० में राहू केतु के प्रभाव से शरीर आपका नरम-गरम रहेगा. शरीर में वीकनेसता देखी जाएगी

आप द्वि और चार चक्री वाहन चलाते हो तो और रोड के उपर पैदल चलकर जा रहे हो तो आप सावधानी बर्ते.

अच्छी सेहत रखनी है तो हल्का सा व्यायाम करे. सुबह में टहल ने के लिए जाए. खाने-पीने में परहेज रखे, समय अनुसार डॉक्टर के पास जाए. डॉक्टर की सलाह के मुजब नियमित रूप से औषधि का सेवन करे.  

स्वस्थ शरीर हेतु निचे दिए हुए उपाय करने से राहत होगी.

महा मृत्युंजय का जाप करे शिव मंदिर में नित्य दर्शन करे हर सोमवार को शिव मंदिर में स्वयं जा कर गाय का दूध-जल, काले तिल शिवलिंग के उपर अर्पित करे.                   

वृषभ राशि २०२०-शिक्षा, नौकरी, यात्रा और आर्थिक लाभ

वृषभ राशि विद्यार्थियों के लिए २०२०में ७०% प्रतिशत तक विद्या अभ्यास में सफलता प्राप्त रहने के आसार है.

इस वर्ष जितनी ज्यादा मेहनत करोगे उतनी ज्यादा सफलता  मिलेगी.

गोचर ग्रह-२०२०में देखा जाए तो शिक्षा(विद्या-अभ्यास) में  आगे बढ़ने की उत्सुकता रहेगी. अभ्यास में सतत प्रयत्नशील रहोगे इसके चलते हुए आपका मन अभ्यासु रहेगा पढ़ने में मन लगेगा.

शिक्षा(विद्या-अभ्यास) में २४ जनवरी के बाद अच्छा परिणाम मिलने के आसार दिखाई पड़ते है.

प्रतियोगिता और परीक्षा में आपको सफलता मिलेगी. पीएचडी करने के लिए आपकी तैयारी हो तो आप इसमें भी आगे बढ़ सकते हो और आपको सफलता प्राप्त होगी. २०२० में शिक्षा के क्षेत्र में ग्रहों के आधार पर अच्छी सफलता प्राप्त होगी.

इस वर्ष के दौरान २०२० में बारहवीं कक्षा में है तो उतीर्ण हो जाने के बाद अच्छी यूनिवर्सिटी में ऐडमिशन(admission)के लिए एंट्रेंस एग्झाम(Entrance exam) में सफलता मिलेगी.

जन्मकुंडली के अशुभ ग्रहों के चलते हुए Entrance exam में सफलता नही मिलती है, तो सचोट उपाय राशिफल के अंत में बताया है, यह उपाय अवश्य करें.

शनि की पनोती २०२० में  लोहा का पाया उपर हैं वो दि.२४ जनवरी २०२० के दिन पूरी होंगी. इस पनोती की प्रतिकूल असर नौकरी में देखी जाएगी. २४ जनवरी २०२० तक नौकरी में दिक्कत आ सकती है. वर्षारंभ से देखा जाये तो दि. ५/११/२०१९ से दि. ३०/०३/२०२० दरमियान शारीरिक-मानसिक, अस्वस्थता-तनाव, श्रम-थाक-बेचेनी विगेरे रहेंगी. वर्तमान नौकरी में प्रमोशन सितंबर २०२० से पहले मिल सकता है. मार्च से लेकर सितंबर तक आपकी तनख्वा में वृद्धि हो सकती है. नौकरी से वंचित हो तो २०२० में नौकरी के लिए अच्छे योग बनेंगे.

मार्च-अप्रैल में यात्रा के योग बनेंगे. देश विदेश में यात्रा हो सकती है. सितंबर से दिसम्बर तक २०२० में इस समय के दौरान यात्रा सबंधी खर्च रहेगा.

यात्रा व्यापार सबंधित है तो व्यापार में अच्छे लाभ मिलने के आसार इस वर्ष के दौरान २०२० में दिखाई दे रहे है.    

अच्छी कंपनी में नौकरी करते हो तो इस कंपनी के माध्यम से विदेश जाने के लिए योग बनेंगे पूरा खर्च विदेश आनेजाने का कंपनी की तरफ से होगा.विदेश की कंपनी में जॉब करते हो तो विदेश जाने के योग बनेंगे.

विदेश जाने के योग के कारण नौकरी में आपको बढती मिलेगी. इस वर्ष गोचर ग्रह के कारण नौकरी में यह दिक्कत आ सकती है आपको स्वास्थ्य अच्छा नहीं रहने के कारण नौकरी में इस्तीफा (Resignation) दे सकते हो ऐसा भी एक योग बन सकता है. इसीलिए आरोग्य में खास ध्यान रखे.  

इस वर्ष २४/०१/२०२० शनि की पनोती का प्रभाव रहेगा इसके बाद पनोती पूर्ण हो जाएगी इसीलिए व्यक्तिगत जीवन की बात देखी जाए तो आपको वर्ष २०२० में उत्तम लाभ मिलने के आसार है. वर्ष २०२० में आपका मनोप्सित संकल्प पूर्ण होगा.

दूसरा घर बैठे भी आमदनी प्राप्त होगी. जहाँ-जहाँ आपने निवेश किया है. इसके अंतर्गत लाभ मिलेगा. आर्थिक स्थिति से देखा जाए तो इस वर्ष के दौरान मिलजुल कर अच्छा परिणाम मिलेगा. गोचर ग्रह वर्ष २०२० के यह संकेत हैं.

वृषभ राशि २०२०-वृषभ राशि के लिए अशुभ ग्रह के उपाय

परेशानियों से बचने के लिए शनिदेव को प्रसन्न रखना होगा जिससे जीवन सरलता से चल सके इसीलिए शनिदेव का दान, मंत्र, जप- पूजन आदि करने से राहत मिलती है.

दि. २४ / ०१ / २०२० तक हर रोज ३माला या १ माला ज़रूर करनी चाहिए.

मंत्र निचे दिया गया हैं.

मंत्रॐ प्रां प्रीं प्रौं सः शनैश्चराय नमः

दूसरा उपाय शनिवार के दिन श्रवण नक्षत्र जब पड़ता है. इस दिन शमी की जड़ लाकर अपने पर्स में रखे या काले धागे में बाधकर गले में धारण करे.

तीसरा उपाय लोहा, काली मिर्च, मसुर की दाल, कालेतिल, सिंदूर चमेली का  तेल और नारियेल हनुमानजी को चढ़ाये.

गुरु मंत्र का जाप करे(विद्यार्थी यह मंत्र का खास जप करे)

मंत्र : ह्रीं गुरवे नमः (हररोज एक माला १०८)

युवक की शादी हेतु उपाय –

मंत्र :

ह्रीं पत्नीं मनोरमां देहि मनोवृत्त्तानुसारिणीम्।

तारिणीं दुर्गसंसारसागरस्य कुलोद्भवाम् ह्रीं

मंत्र का जाप रोज एक माला करे.(१०,००० मंत्र कुल मिलाकर करना है १०० माला करने से १०० दिन हररोज १०माला करने से हो जायेगा जानकारी हेतु इमेल करे)

विद्यार्थी अपनी तेजस्विता प्राप्त करने हेतु उपाय

मंत्र : ॐ ऐं नमः

(जाप १ माला, ३ माला या १० माला करे.)

अथः शुभम् भवतु

 

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें